इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन क्या है । what is electro voting machine

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन
यह एक सरल इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है । मतपत्रों के स्थान पर मतों का रिकॉर्ड करने में उपयोग किया जाता हैं । पारंपरिक मतपत्रों  की प्रणाली की तुलना मेंयह एक सरल इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है । मतपत्रों के स्थान पर मतों का रिकॉर्ड करने में उपयोग किया जाता हैं । पारंपरिक मतपत्रों  की प्रणाली की तुलना में  EVM के निम्नलिखित लाभ है :



Electronic voting machines images
Image for electronic voting machines


1 EVM से अवैध और संदेहास्पद मतों की सम्भावना समाप्त होती हैं , जो कि चुनाव से जुड़े विवादों तथा चुनाव याचिकाओ का प्रमुख कारण रहा है ।
2 इससे मतगणना की परिक्रियाओ आसान और द्रुत हो जाती हैं ।
3 इसके उपयोग से कागज की खपत बहुत कम हो जाती हैं । जिसका सीधा पर्यावरण पर सकारात्मक प्रभाव होता है  ।
4 इससे छपाई की लागत बहुत कम हो जाती हैं क्योंकि इस प्रिक्रिया में प्रत्येक मतदान केन्द्र में केवल एक मतपत्र की ही
आवश्यकता रह जाती हैं ।
मतगणना
जब मतदान सम्पन्न हो जाता हैं चुनाव अधिकारी तथा पर्यवेक्षक की देखरेख में मतगणना की प्रिक्रिया आरंभ होतीं है । मतदान होने के पश्चात चुनाव अधिकारी सबसे अधिक मत पाने वाले उम्मीदवार का नाम विजयी उम्मीदवार के रूप में घोषित करते है ।
लोकसभा चुनाव फर्स्ट पास्ट दी पोस्ट के अनुसार कराये जाते है । देश को चुनाव क्षेत्रो के रूप में अलग अलग भौगोलिक क्षेत्र में विभाजित कर दिया जाता हैं । मतदाता एक उम्मीदवार के लिए एक मत देते है और सबसे अधिक मत पाने वाले उम्मीदवार विजय घोषित किया जाता है ।
राज्य विधानसभा चुनाव भी लोकसभा चुनावों की तर्ज पर ही होते है जिनमें राज्यों और संघ शासित प्रदेश को एकल सदस्य चुनाव क्षेत्रों में विभाजित कर दिया जाता हैं ।
चुनाव का पर्यवेक्षण
चुनाव आयोग बड़ी समस्या में पर्यवेक्षक की नियुक्ति करता है
जो यह सुनिश्चित करते है कि मतदान स्वत्रंत और निष्पक्ष ढंग से कराए गए  और लोगो ने अपनी पसंद को उम्मीदवार चुना ।
चुनाव ख़र्च पर्यवेक्षक उम्मीदवार और दल के चुनाव ख़र्च की निगरानी करते हैं ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां