कुष्ठ रोग क्या है और कुष्ठ रोग के मुख्य लक्षण क्या होते है पूरा बताईये और यह कैसे हमारे जीवन को नुकसान पहुचाता है

             कुष्ठ रोग क्या है
यह एक संक्रामक रोग है और इसका वाहक microbacterium लेप्रो नामक जीवाणु है । इस रोग के वाहक जीवाणु त्वचा को क्षति पहुँचाई जाती हैं । कुछ समय बाद त्वचा अथवा स्वाशन तंत्र के मार्ग से शरीर मे प्रविष्ट होते है और इन जीवाणुओ द्वारा नशों एव त्वचा को क्षति पहुचाई जाती है । कुछ समय बाद त्वचा पर सूनापन के लिए हुए लाल या सफेद चलते दृष्टिगत होते है । रोग के विकास के साथ साथ उंगलियों में विंगलता आने लगती हैं और दर्दरहित घावो के कारण हाथो तथा पैरो की उंगलिया गल जाती है । कुष्ठ रोग अनेक  प्रकार के होते है और इनका इलाज भी उनकी प्रकति पर निर्भर करता है ।

Kusth rog kya hai


   ट्यूबर क्यूलाइड कुष्ठ रोग जिसमे जीवाणु बहुत कम होते है  और sankramta नही के बराबर होती है को मात्र छः महीने में ' multi drug tharepy ' से ठीक किया जा सकता है , जबकि लैप्रोमोट्स कुष्ठ रोग जिसमे जीवाणु अधिक  होते है और संक्रामकता भी अधिक होती है को क7म से कम एक साल के  ' multi drug therepy '  से ठीक किया जा सकता है । multi drug therepy में जिन ओषधियों का उपयोग किया जाता है , उनमे प्रमुख है _- depson और रैफीमपीसीन

राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति ने कुष्ठरोग के उन्मूलन के लिए प्रतिवर्ष 2005 लक्षित किया था ।  जिसे प्राप्त कर लिया गया है उल्लेखनीय है कि उन्मूलन से अभिप्राय 10, 000 व्यक्तियों में प्रसार दर को 1 से  कम लाना होता है ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ