Chandrayaan 2 vikram lander : टकराकर नही गिरा चंद्रयान 2 का विक्रम लैंडर वैज्ञानिकों ने जताया है पूरा भरोसा

Chandrayaan 2 vikram lander : टकराकर नही गिरा चंद्रयान 2 का विक्रम लैंडर वैज्ञानिकों ने जताया है पूरा भरोसा 



Chandrayaan 2 vikram lander live news  isro chandrayaan 2 moon  mission vikram lander latest information

हमारे देश के लिए बड़े गर्व की बात है कि हमारे वैज्ञानिक चांद के बहुत निकट पहुंच गए है । लकभग 2km दूरी पर रहकर हमारे चंद्रयान का सम्पर्क टूटा है   । chandrayaan 2 status ऐसा शायद इसलिए हो सकता है क्योंकि हमारे वैज्ञानिक ने चन्द्रमा पर high landing की थी जिससे हो सकता है कि चंद्रयान 2 के कुछ equipment टूट गए हो और हमारा चंद्रयान 2 सही लैंडिंग नही कर पाया हो   । इसरो लागातार कमांड भेज रहा है ताकि विक्रम लैंडर किसी भी कमांड पर react कर सके ।

विक्रम लैंडर के ऊपर तीन transponder और एक तरफ एंटीना है और उसके ऊपर एक गुम्बद है  ।

Chandrayaan 2 vikram lander image


      Chandrayaan 2 vikram lander try to connect with moon

विक्रम लैंडर इन्हीं इक्विपमेंट के  जरिये धरती से भेजे गए सिग्नल को लेता है । हमारे चंद्रयान 2 का विक्रम लैंडर से संपर्क टूट और अभी 72 घंटे हो चुके है अर्थात 3 दिन हो चुके है  लेकिन कोई सकारात्मक खबर नही मिली है  जिससे हमारा मनोबल बड़ सके ।
Isro chief सिवान का कहना है कि चन्द्रयान 2 लगातार विक्रम लैंडर से संपर्क करने की कोशिस कर रहा है इसके लिए वह लगातार पृथ्वी से कमांड भेज रहा ताकि कोई सकारात्मक खबर मिले

Also read

Chandrayaan 2 vikram lander अब चांद के बहुत नजदीक है

Isro chief का कहना है कि चंद्रयान 2 विक्रम लैंडर की सही location का पता लगा लिया है ।  isro का कहना है हम लगातार सिग्नल भेजकर विक्रम लैंडर से संपर्क करने की कोशिश कर रहे है । उनका कहना हैं कि उनके पास एक ऐसी
Frequency है जो विक्रम लैंडर  के साथ cammunicate किया जा सके । इसी  frequency की सहायता से कमांड भेजने की कोशिश कर रही है

Chandrayaan 2 vikram lander photo


Chandrayaan 2 vikram kaner  को isro   power देने लिये के लिए उठाये गए कदम

इसरो ने विक्रम लैंडर से संपर्क कर्नाटक के एक गाँव मे 32m एंटेना सिग्नल का इस्तेमाल कर रहा है । इसरो की कोशिश है कि वह ऑर्बिटर के जरिए विक्रम से संपर्क स्थापित हो । चंद्रयान 2 को अभी और power  जरूरत है ।
चंद्रयान 2 के ऊपर एक सोलर पैनल लगा है  । जो सूर्य से पावर लेकर अपना कार्य पुर्ण कर सकता है ।
चंद्रयान 2 एक बहुत बड़ा मिशन है और हमारे वैज्ञानिक ने इसमें बहुत ज्यादा सफलता हासिल की है ।


दूसरे शक्तिशाली देश चांद पर पहुँचने में अनेक बार असफल

इसमें कही शक्तिशाली  देश ने चाँद पर जाने के अनेक प्रयास किये हैं परन्तु इसमे उन्हें अनेक बार असफल हुए हैं । इसमे अमेरिका 26 बार और रूस 14 बार फैल हुए हैं । इसके अलावा इसमें एक बाहरी बैट्री लगी हुई है जो 7 वर्ष तक चंद्रयान 2 को ऑर्बिट में चक्कर करने के लिए power देगी ।।     chandrayaan 2 status
चंद्रयान 2 के hard landing के कारण इसके कुछ  equipment टूट गए  ।  isro के चेयर मैन ने कहा कि वे इसके डेटा का विश्लेषण कर रहे है ताकि इससे कुछ अच्छा result प्राप्त कर सके । प्री लांच के अनुसार सूर्य से मिलने वाली ऊर्जा 14 दिन तक चलेगी ।

Chandrayaan 2 vikram lander बनाने में लागत = चंद्रयान 2 एक बहुत बड़ा  mission था । इस mission को पूरा करने के लिए  और चांद तक  भेजने मेंं

इसरो को  लकभग 978 करोड़ रुपये का खर्चा आया है । जो कि बाकी देशों से कम था । यह हमारे देश के लिए बड़े गर्व की बात है ।

Chandrayaan 2 vikram lander launch date

चंद्रयान 2 को पृथ्वी से चांद तक पहुंचने में लकभग   47 दिनो तक समय लगा  और यह 7 sep 2019 को चांद से मात्र 2.1 कम दूर रहकर संपर्क टूट गया है  । जो हमारे लिए अशुभ ख़बर है । लेकिन जल्दी ही हमारे लिए अच्छी ख़बर आ सकती हैं ।




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां